लखनऊ में निर्माण मजदूरों की जनसभा

ऐक्टू से सम्बद्ध निर्माण मजदूर यूनियन ने लखनऊ के मड़ियांव क्षेत्र में 17 सितंबर 2019 को मजदूरों की एक जनसभा का आयोजन किया. सभा को संबोधित करते हुए लखनऊ के पार्टी जिला प्रभारी का. रमेश सेंगर ने कहा कि मोदी-योगी की सरकार किसानों, मजदूरों व गरीबों को सामाजिक सुरक्षा के नाम पर मिलने वाली योजनाओं व बजट को खत्म कर रही है और मालिकों के पक्ष में मजदूरों के अधिकारों को समाप्त कर रही है. कारपोरेट-परस्त मोदी सरकार देश की अर्थव्यवस्था को बर्बादी के कगार पर ले आई है. नोटबंदी-जीएसटी से देश का कारोबार व रोजगार चौपट हो गया. योगी सरकार ने भी बिजली दरों में बढ़ोतरी कर जनता की कमर तोड़ने का काम किया है.

माले राज्य कमेटी सदस्य का. राधेश्याम मौर्य ने कहा कि योगी राज में खेत मजदूरों-गरीबों की कुपोषण व भूख से अकाल मौतें हो रही हैं. कुशीनगर जिले में हाल में कुपोषण से दर्जन भर मुसहर गरीबों की मौत हो गई. सरकार संरक्षित संघ-भाजपा के गुंडे गिरोह राह चलते अल्पसंख्यकों की हत्याएं कर रहे हैं और आसानी से बरी भी हो जा रहे हैं. भाजपाई अपराधियों के खिलाफ दर्ज मुकदमे खुद सरकार ही वापस ले ले रही है। संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि गरीब लोग संगठित होकर भाजपा शासन को उखाड़ फेंकेंगे.

ऐपवा नेता का. मीना ने कहा कि योगी राज में महिला दमन व उत्पीड़न की बाढ़ आ गई है. मोदी-योगी की सरकार बड़ी बेशर्मी से बलात्कारियों व अपराधियों का बचाव कर रही है. पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एक छात्रा द्वारा मजिस्ट्रेट के समक्ष दिये गये बयान व सबूतों के बावजूद अभी भी स्वामी को गिरफ्तार न किया जाना यह साबित करता है कि किस कदर अपराधी महफूज हैं. भाजपा सरकार सांप्रदायिकता के चारे के रूप में गरीबों का इस्तेमाल करती है. भाजपा के हिंदू राष्ट्र में संत रविदास के लिए कोई जगह नहीं है, जैसे कि ‘हिंदू’ समाज में दलितों के लिए.

संचालन करते हुए निर्माण मजदूर यूनियन के जिला सचिव नौमीलाल ने कहा कि सरकार के पास निर्माण मजदूरों का करोड़ों रुपए पड़ा है, जिसका उपयोग मजदूरों के कल्याण के लिए न करके दूसरे कार्यों में किया जा रहा है. निर्माण मजदूरों की संपूर्ण सामाजिक सुरक्षा के लिए अभी तक कोई कानून नहीं बना है. उन्हें पचास साल की उम्र पर ही न्यूनतम पांच हजार रुपए मासिक पेंशन मिलना चाहिए. सभा को उनके अलावा ऐपवा नेता कमलेश कुमारी, निर्माण मजदूर यूनियन के बाबूराम कुशवाहा आदि वक्ताओं ने भी संबोधित किया. अध्यक्षता यूनियन नेता डोरीलाल ने की.

वर्ष28
अंक41