शैक्षणिक अराजकता के खिलाफ मुजफ्फरपुर विश्वविद्यालय में आइसा का धरना

आइसा के नेतृत्व में सैकड़ों छात्रों ने शैक्षणिक अराजकता, शिक्षा के निजीकरण व भगवाकरण, बेतहाशा बढ़ती बेरोजगारी तथा उन्माद-उत्पात की राजनीति के खिलाफ मुजफ्फरपुर विश्वविद्यालय परिसर में धरना दिया. इस दौरान शैक्षणिक सत्रों को नियमित करने, सभी छात्रों के नामांकन की गारंटी करने, स्नातक के रिजल्ट में भारी गड़बड़ी – जिससे 75 प्रतिशत छात्रों का रिजल्ट पेंडिंग है – को ठीक करने, मुजफ्फरपुर विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने तथा विश्वविद्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार, दबंगता तथा आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने की मांग उठाई गई.

धरना को संबोधित करते हुए आइसा के राज्य सचिव शब्बीर कुमार ने कहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था दम तोड़ रही है और आम छात्र परेशान हैं. काॅलेज में बड़े पैमाने पर शिक्षकों की कमी के कारण आम तौर पर पढ़ाई चौपट है. उन्होंने कहा कि पटना व दिल्ली की सरकारें छात्रों के वर्तमान व भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है. उन्होंने छात्रों से अपने शैक्षणिक अधिकार व रोजगार के लिए संगठित होने तथा शिक्षा के निजीकरण व भगवाकरण के खिलाफ आंदोलन तेज करने का आह्वान किया.

edu2

 

धरना को संबोधित करते हुए प्रो. अरविंद कुमार डे ने कहा कि मोदी राज में लोकतंत्र, संविधान व लोगों के जीने के अधिकार पर बर्बर हमला जारी है. शिक्षा सहित देश के तमाम संसाधनों को तेजी से देशी-विदेशी काॅरपोरेट लाॅबी के हवाले किया जा रहा है जिसके कारण देश भारी आर्थिक मंदी की चपेट में है और छात्र-नौजवानों का वर्तमान व भविष्य खतरे में पड़ गया है. लेकिन, बेपरवाह प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका जाकर ‘हाउडी मोदी’ का तमाशा करने में लगे हैं. छात्र-नौजवानों को शिक्षा, रोजगार तथा लोकतंत्र व देश बचाने की बड़ी लड़ाई में उतरना होगा.

इंसाफ मंच के राज्य अध्यक्ष व पूर्व आइसा अध्यक्ष सूरज कुमार सिंह ने कहा कि मोदी सरकार-2 के 100 दिनों के दौरान कश्मीर को जेलखाना में बदल कर बन्दूक का राज कायम करने, दलितों व अल्पसंख्यकों पर हमले, माॅब लिंचिंग, जनता के अधिकारों के लिए आंदोलन करने वाले संगठनों, बुद्धिजीवियों व सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं को आतंकवादी घोषित कर जेल में बंद करने, पूरे देश को एनआरसी के हवाले कर नागरिक अधिकारों को कुचलने की भयावह साजिश जारी है। हमें हर स्थिति में देश को बचाना होगा.

धरना की अध्यक्षता दीपक कुमार व संचालन विकेश कुमार ने किया. धरना को नौजवान सभा के राहुल कुमार सिंह व आजम हुसैन, आइसा नेता मधुसूदन, अजय कुश, अजीत कुमार, रौशन कुमार, मीसा भारती, छात्र नेता हैदर निजामी, इंसाफ मंच के असलम रहमानी, फहद जमां व मतलुब रहमान ने भी संबोधित किया. धरना में विभिन्न काॅलेजों व शैक्षणिक संस्थाओं से बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने शिरकत की.

वर्ष28
अंक41