छात्र-युवाओं की शिक्षा-रोजगार यात्रा: करेंगे विधानसभा घेराव

वर्ष - 30
अंक - 7
13-02-2021


‘नये बिहार के तीन आधार शिक्षा-स्वास्थ्य और रोजगार’ और ‘19 लाख रोजगार मांग रहा है नया बिहार’ – नारों के साथ आइसा-इनौस पूरे बिहार में 7 फरवरी से 15 फरवरी तक शिक्षा-रोजगार यात्रा निकाला है. रोजगार यात्रा की शुरूआत विगत 7 फरवरी 2021 को बिहार की राजधानी पटना स्थित पटना विश्वविद्यालय से की गई. इस मौके पर आइसा-इनौस नेताओं के साथ ही भाकपा(माले) के सभी नवनिर्वाचित विधायक भी मौजूद थे.

कुल चार यात्री दलों के साथ, जिसमें छात्र-युवा नेताओं की अलग-अलग टीम शामिल है, यह यात्रा पूरे बिहार में जाएगी. आइसा-इनौस ने बिहार विधानसभा के बजट सत्र के दौरान आगामी 1 मार्च को रोजगार के सवाल पर विधानसभा के समक्ष होनेवाले प्रदर्शन की तैयारी के क्रम में इस यात्रा की योजना बनाई है.

छात्र-युवाओं के पहले दल को शाहाबाद, सारण व तिरहुत क्षेत्र के पश्चिमी व पूर्वी चंपारण जिलों की यात्रा करना था. इस दल में डुमरांव (बक्सर) से भाकपा(माले) के नवनिर्वाचित विधायक और इनौस के राज्य अध्यक्ष अजीत कुशवाहा, आइसा के राज्य सचिव शब्बीर कुमार, इनौस के भोजपुर जिला संयोजक शिवप्रकाश रंजन और अन्य छात्र-युवा नेता शामिल हैं. इस दल ने विगत 8 फरवरी को भोजपुर जिले के आरा स्थित वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर में एक सभा आयोजित करने के साथ अपनी यात्रा की शुरूआत की. इस दल ने 8 फरवरी को भोजपुर जिले के बीबीगंज, छोटकी सासाराम, बिहिया, जगदीशपुर व अगिआंव बाजार; 9 फरवरी को रोहतास जिले के विक्रमगंज, गोड़ारी, मोथा, नासरीगंज, अकोढ़ी गोला व सासाराम, 10 फरवरी को कैमूर जिले के कुदरा, मोहनियां, भभुआ, चैनपुर, इसिया बाजार, मनिहारी, दुर्गावती व रामगढ़; 11 फरवरी को बक्सर जिले के सोनवर्षा, चैगाईं, केसठ, बगेन गोला, सरैंया बाजार, नवानगर व डुमरांव तथा 12 फरवरी को सिवान जिले के दरौंधा, सीवान शहर, मैरवां, गुठनी और आंदर की अपनी यात्रा के दौरान इन स्थानों पर छात्र-युवाओं की कई सभाओं को संबोधित किया.

दूसरे दल को मिथिला क्षेत्र के जिलों, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय व भागलपुर की यात्रा करनी थी. इस दल में अगिआवं (भोजपुर)  से भाकपा(माले) के नवनिर्वाचित विधायक और इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज मंजिल, इनौस के राष्ट्रीय महासचिव, आइसा-इनौस के राज्य नेता संदीप चौधरी, केसरी यादव, रंजीत राम, मनोज, वतन कुमार आदि शामिल थे. इस दल ने 8 फरवरी को मधुबनी के माले नगर; 9 फरवरी को दरभंगा में एलएन मिश्रा विश्वविद्यालय, कल्याण छात्रावास, बहेड़ा और बहादुरपुर प्रखंड के कई गांवों. 10 फरवरी को मुजफ्फरपुर के बेनीबाद, एनएच-57, सर्फुद्दीनपुर, औराई व बोचहा; 11 फरवरी को समस्तीुपर के कल्याणपुर, भुसकौल चौक, दिघरा, पूसा, ताजपुर, गंगापुर, समस्तीुपर व उजियारपुर तथा 12 फरवरी को बेगूसराय के कीरतौल, बरौनी, बेगूसराय की यात्रा पूरी की.

सीमांचल के जिलों की यात्रा पर निकले तीसरे दल में आइसा के राज्य अध्यक्ष मोख्तार, जेएनएसयू के महासचिव व आइसा नेता सतीशचंद्र यादव, काजिम इरफानी व मुकेश प्रभाकर शामिल थे. इस दल ने 8 फरवरी को सहरसा जिले के नंदलाली व कचहरी चौक; 9 फरवरी को मधेपुरा के बीएन मंडल विवि परिसर, मुरलीगंज व मीरगंज; 10 फरवरी को सुपौल जिले के लोहिया चौक, त्रिवेणीगंज, काॅलेज चौक व पंचमुखी चौक; 11 फरवरी को अररिया के रजोखर व चांदनी चौक तथा 12 फरवरी को पूर्णियां जिले के गड़बनैली (कसबा), श्रीनगर के गांधी चौक और पूर्णियां शहर के डीएवी चौक पर छात्र-युवाओं की सभा को संबोधित किया.

चौथे दल को, जिसमें आइसा के महासचिव व पालीगंज (पटना) से भाकपा(माले) के नवनिर्वाचित विधायक संदीप सौरभ और इनौस के राज्य सचिव सुधीर कुमार समेत कई छात्र-युवा नेता शामिल हैं, मगध क्षेत्र के पटना, अरवल, जहानाबाद, औरंगाबाद, गया, नालंदा, नवादा आदि जिलों की यात्रा करनी थी.

------------------------------------------------------

11 फरवरी 2021 को शिक्षा रोजगार यात्रा बक्सर जिले में पहुंची. इनौस के जिला सह संयोजक नीरज कुमार व आइसा नेता धनजी पासवान ने यात्रा की आगवानी की.

इस दौरान आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए इनौस के राज्य अध्यक्ष व डुमरांव के विधायक अजीत कुशवाहा ने कहा कि विधानसभा चुनाव में एनडीए द्वारा 19 लाख रोजगार देने का वादा किया गया था. लेकिन सरकार की ओर से अब लोन देने की बात कही जा रही है. अब लोन देना कब से रोजगार बन गया. हम 19 लाख रोजगार को हम जुमला नहीं बनने देंगे. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सरकारी संस्थाओं को बेच रही है. अब वह खेती को भी अंबानी और अडानी को देने के लिए तीन किसान विरोधी कानून लाई है. किसान, मतदूर, छात्रा व युवा जब आंदोलन कर रहे हैं तो मोदी जी कह रहे हैं कि ये आंदोलनजीवी है. इस सभा को आइसा के राज्य सचिव सबीर कुमार, इंकलाबी नौजवान सभा के शाहाबाद प्रभारी शिवप्रकाश रंजन ने भी संबोधित किया.

--------------------------------------------------

शिक्षा-रोजगार यात्रा 10 फरवरी 2021 को मुजफ्फरपुर पहुंची. गायघाट के बेनीबाद में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व विधायक मनोज मंजिल ने कहा कि बिहार विधान सभा चुनाव में रोजगार प्रमुख मुद्दा बना था. लेकिन नीतीश सरकार छात्र-नौजवानों को रोजगार देने के प्रति गंभीर नहीं है. उधर, मोदी सरकार रोजगार देने के बदले सरकारी संसाधनों और उद्योग-धंधों को अडानी-अंबानी तथा देशी-विदेशी काॅरपोरेट घरानों के हाथों बेच रही है. कोरोना महामारी और लाॅकडाउन के बाद बेरोजगारी के बढ़ते संकट को मोदी-नीतीश सरकार की नीतियों ने और भी बढ़ा दिया है.

सभा को संबोधित करते हुए नौजवान सभा के राष्ट्रीय महासचिव नीरज कुमार ने कहा कि बिहार में बेरोजगारी की दर भारत के अन्य राज्यों से भी ज्यादा है. नौकरी के नाम पर नौजवानों को संविदा, मानदेय और ठेका सिस्टम में धकेला जा रहा है. बिहार में जारी शिक्षा-रोजगार यात्रा और 1 मार्च को बिहार विधानसभा का घेराव रोजगार आंदोलन का मजबूत आगाज साबित होगा.

सभा को आइसा के राज्य सहसचिव संदीप चौधरी, पप्पू कुमार, प्रिंस कुमार, दीपक कुमार, इनौस नेता राजेश राम, भाकपा(माले) नेता जितेंद्र यादव, इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष आफताब आलम सहित अन्य छात्र-नौजवान नेताओं ने संबोधित किया. संचालन इनौस के जिला अध्यक्ष विवेक कुमार ने किया.

-------------------------------------------------------

12 फरवरी 2021 को शिक्षा-रोजगार यात्रा पूर्णिया पहुंची. वहां आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए आइसा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष मोख्तार, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रा संघ के महासचिव सतीशचंद्र यादव, आइसा नेता मुकेश प्रभाकर ने कहा कि बिहार में लगभग साढ़े चार लाख सरकारी पद खाली हैं और 5 लाख से ज्यादा नए सरकारी पद सृजित किया जा सकते हैं. आज बिहार के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों-कर्मचारियों के 80 फीसदी से ज्यादा पद खाली हैं. लेकिन, सरकार इन खाली पदों पर बहाली की दिशा कोई कदम नही उठा रही है, इस यात्रा के माध्यम से हम बिहार की भाजपा-जदयू सरकार से यह मांग करते हैं कि वह 19 लाख सरकारी नौकरियां देने के अपने वायदे को पूरा करे.

कार्यक्रमों में भाकपा(माले) के जिला सचिव  विजय कुमार व जिला कमिटी सदस्य अविनाश पासवान, अरमान खान, परवेज आलम, राजेन्द्र मंडल, मंगल मंडल, अर्जुन मंडल, सुशील कुमार समेत कई लोग मौजूद थे.

-----------------------------------------------------

तीसरे दिन, 11 फरवरी 2021 को मगध क्षेत्र का यात्री दल अरवल पहुंचा जहां इनौस के जिला अध्यक्ष शाह शाद ने इसकी आगवानी की. अरवल, कुर्था, करपी, शहर तेलपा, उसरी बाजार और बेलसर लख में सभा आयोजित की गई.

सभाओं को संबोधित करते हुए पालीगंज के विधायक संदीप सौरभ ने कहा कि बिहार में शिक्षा की बदहाली और रोजगार के संकट को दूर करने के लिए छात्र-युवा संगठन द्वारा पूरे राज्य में इस यात्रा के माध्यम से जन-जागरुकता अभियान चला रहे हैं. यात्रा को हर जगह लोगों व छात्र-नौजवानों का अच्छा सहयोग मिल रहा है. बिहार के युवाओं ने यह ठान लिया है कि वे सरकार से 19 लाख रोजगार ले के रहेंगे और राज्य में शिक्षा व स्वास्थ्य की बदहाली को बर्दाश्त नहीं करेंगे. यात्रा में अरवल के विधायक महानंद प्रसाद, इनौस के राज्य सचिव सुधीर कुमार, आइसा के सहसचिव आकाश कश्यप शामिल रहे.

 

arwal

 

arwal

 

arwal

 

arwal

 

rozgar aisa

 

magadh