देश भर में डा. भीमराव अम्बेडकर जयंती मनाई गई

डा. भीमराव अम्बेदकर की जयंती पर 14 अप्रैल 2019 को भाकपा(माले) व ऐक्टू ने भागलपुर में लोकतंत्र व संविधान की रक्षा के संकल्प के साथ श्रद्धा के फूल अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. दर्जनों कार्यकर्ताओं के साथ भाकपा-माले के राज्य कमिटी सदस्य एस.के. शर्मा व ऐक्टू के राज्य सह जिला सचिव मुकेश मुक्त ने स्थानीय स्टेशन चौक स्थित बाबा साहेब डा. अम्बेदकर के प्रतिमा स्थल पर पहुंचकर कर ‘डा. अम्बेदकर को जय भीम - लाल सलाम’, ‘भाजपा हराओ - संविधान बचाओ-देश बचाओ’, ‘रोजी-रोटी की रक्षा के लिए मजदूर विरोधी ताकतों को सत्ता से बेदखल करो’ आदि नारों की गूंज के बीच उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और उनके सपनों के भारत निर्माण का संकल्प लिया. साथियों ने कहा कि डा. अम्बेदकर और भगतसिंह के सपनों का भारत निर्माण के लिए भाकपा(माले) व ऐक्टू प्रतिबद्ध है. लोकतंत्र व संविधान पर हमला करने वाले मनुवादियों और पूंजी के दलाल सत्ता को किसी भी कीमत बख्शा नहीं जाएगा. भगत सिंह-अम्बेदकर के विचारों और संघर्षों के सच्चे वारिस मजबूती से लड़ाई के मैदान में है. जुमलेबाजों-धोखेबाजों का कोई लहर काम नहीं आएगा. दलितों-पिछड़ों, मजदूरों-किसानों के साथ किए गए एक-एक गद्दारी ...एक-एक जुल्म का हिसाब होगा.

कार्यक्रम में बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोपगुट) के जिला अध्यक्ष विष्णु कुमार मंडल, असंगठित कामगार महासंघ के राज्य सचिव सुभाष कुमार, बिहार राज्य स्थानीय निकाय कर्मचारी संघ के राज्य सचिव मनोज सहाय, बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन के जिला कार्यालय सचिव अमर कुमार, प्रवीण कुमार पंकज, विनीता देवी, प्रेम पंकज, विजेंद्र यादव आदि शामिल हुए और मौके पर बड़ी संख्या में आमजन मौजूद रहे.

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 14 अप्रैल 2019 को इंकलाबी नौजवान सभा और डा. बीआर अंबेडकर सामाजिक वैचारिक संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में मुहावरा बाजार में अम्बेदकर जयंती धूमधाम से मनाई गई. इस अवसर पर मोहबरा बाजार में प्रतिमा स्थल के पास आयोजित एक समारोह में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच कई बुद्धिजीवियों ने अपने विचार रखे. कार्यक्रम की अध्यक्षता इनौस जिला संयोजक उमाकांत विश्वकर्मा एवं संचालन इनौस राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अतीक अहमद ने किया. मुख्य अतिथि डा. अशोक कुमार गौतम ने कहा कि देश और समाज की मौजूदा चुनौतियों का मुकाबला डाक्टर अंबेडकर के रास्ते पर चलकर ही किया जा सकता है. शहीद शोध संस्थान के प्रबंध निदेशक सूर्यकांत पांडेय ने कहा कि बाबा साहब के संविधान के साथ-साथ देश के लोकतंत्र एवं आजादी के मूल्यों को आज शासक वर्गों द्वारा गंभीर क्षति पहुंचाई जा रही है बाबा साहब के सपनों के अनुरूप देश एवं समाज निर्माण के लिए संघर्ष की आवश्यकता मौजूदा दौर में शिद्दत से महसूस की जा रही है. कबीर विचार मंच के प्रदेश अध्यक्ष उमा शंकर दास ने कहा कि संत कबीर और डाक्टर अंबेडकर एक ही लड़ाई के योद्धा थे इन दोनों महापुरुषों ने अपने अपने दौर में अपने-अपने ढंग से परिवर्तन की लड़ाई को आगे बढ़ाया था. समारोह को सुनील बौद्ध, राजशेखर, पत्रकार अमरनाथ वर्मा, युवा नेता कामरेड राम सिंह, अनिल चौधरी आदि ने भी संबोधित किया.

झारखंड के गिरिडीह जिले के जमुआ में इस दिन भाकपा(माले) ने जमुआ चौक पर भीम आर्मी के साथियों के साथ संयुक्त रूप से मनाया. सभा में भाकपा(माले) जमुआ विधानसभा के नेता अशोक पासवान ने कहा कि इस आम चुनाव में एक तरफ संविधान खत्म करने वाली भाजपा जैसी सांप्रदायिक ताकत है तो दूसरी तरफ संविधान की रक्षा के लिये लड़ने वाले भाकपा(माले) के लोग हैं. उन्होंने इस चुनाव में संविधान को संकट में डालने वाली भाजपा को हराने और गरीबों व दलितों के हितों में लड़ने वाली भाकपा(माले) के उम्मीदवार राजकुमार यादव को इस चुनाव में सफलता दिलाने को डा. अम्बेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि बताया.

गिरिडीह शहर के अम्बेदकर चौक पर इस दिन भाकपा(माले) ने महानायक अम्बेदकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके उनके अधूरे सपनों को पूरा करने का संकल्प लिया. कार्यक्रम को माले के राज्य कमेटी सदस्य और इनौस के राज्यस्तरीय नेता रामेश्वर चौधरी, राज्य कमेटी सदस्य राजेश यादव आदि ने भी संबोधित किया. गिरिडीह जिले के बिरनी प्रखंड में भी अम्बेडकर जयन्ती मनाई गई. भाकपा(माले) नेता भुवनेस्वर केवट ने बेडोकला में अम्बेडकर की मूर्ति का लोकार्पण कर अम्बेडकर जयन्ती मनाया. बगोदर में भी नौजवानों ने इनौस और आईसा की ओर से अम्बेडकर का मूर्ति पर माल्यार्पण किया. गिरीडीह जिले के सरिया, गावां, तिसरी, देवरी प्रखंडों में भी अम्बेडकर जयंती मनाई गई. गिरिडीह सदर के ग्राम बेदमुका और पनायडीह में कामरेड राजेश यादव के नेतृत्व में अम्बेडकर जयन्ती मनाई गई. कोडरमा लोकसभा के भाकपा माले प्रत्याशी राजकुमार यादव के नेतृत्व में झुमरीतिलैया में अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद शहर में मार्च निकाला गया और सभा की गई.

धनबाद जिले के निरसा कोयलांचल के श्यामपुर-बी में सीएमडब्लूयू के नेताओ द्वारा भीमराव अंबेडकर की 128वीं जयन्ती मनाई गई. पलामू जिले के डाल्टनगंज के अम्बेडकर पार्क में भाकपा(माले) की पलामू लोकसभा प्रत्याशी सुषमा मेहता और लातेहार जिला सचिव बिरजू राम ने अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण कर व जनसभा कर जयंती मनाई गई.

सभी जगह इस दिन एक संकल्प के साथ एक जन अभियान की शुरूआत की गई कि भारत के संविधान पर गिद्ध दृष्टि लगाए फासिस्टों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए देश के शोषितों-दबे कुचले लोगों के हक-अधिकार की लड़ाई को निर्णायक जीत की मंजिल तक जाएंगे.

ambedkar divas

 

वर्ष28
अंक18