चुनाव आयोग की पूर्वाग्रहग्रस्त कार्रवाई का प्रतिवाद

सिलिगुड़ी (पश्चिम बंगाल) के सुभाषपल्ली में कामरेड चारु मजुमदार की प्रतिमा जिस स्तंभ पर खड़ी है, उस पर खुदे हुए विवरणों को चुनाव आयोग अधिकारियों ने ढंकवा दिया. इस कार्रवाई के खिलाफ भाकपा(माले) ने कड़ा प्रतिवाद दर्ज कराया है. बगल के शहीद स्तंभ पर भी खुदे आलेख को काले पलास्टिक से ढंक दिया गया है. चुनाव आयोग अधिकारियों द्वारा की गई इस कार्रवाई का कोई लेना देना चुनाव आचार संहिता के साथ नहीं है. बल्कि, उक्त चुनाव अधिकारियों ने अपने वैयक्तिक विचारधारात्मक पूर्वाग्रहों की वजह से यह मनमानी हरकत की है, जो हमारे लोकतंत्र और संवैधानिक अधिकारों व आजादियों पर एक हमला है. ऐसा करके उन अधिकारियों ने अपने कर्तव्यों और दायित्वों का भी उल्लंघन किया है.

भाकपा(माले) की दार्जीलिंग जिला इकाई ने 1984 में ही स्थापित का. चारु मजुमदार की अति-सम्मानित प्रतिमा के साथ की गई इस सुचिंतित कार्रवाई के खिलाफ अपना प्रतिवाद पश्चिम बंगाल के मुख्य चुनाव पदाधिकारी के पास दर्ज कराया है. पार्टी ने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग करते हुए दिल्ली में मुख्य निर्वाचन आयुक्त को भी एक प्रतिवाद पत्र सौंपा है.

वर्ष28
अंक18