बहस

आदिवासी समाज-संस्कृति में दखल देना बंद करे भाजपा

भाकपा(माले) के वरिष्ठ नेता गौतम लाल मोरीला और शंकरलाल मीणा ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व ग्रहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के उस वक्तव्य की आलोचना की है जिसमें उन्होंने आदिवासी समाज के लोगों द्वारा ‘जय जोहार’ कहकर अभिवादन किये जाने को आपत्तिजनक व खतरनाक बताया है. हाल ही में स्थानीय इलेक्ट्राॅनिक मीडिया में पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया का एक आये वीडियो फुटेज सामने आया है जिसमें वे जिला कलेक्टर, उदयपुर से ‘जय जोहार’ के संबोधन पर अपने विचार साझा कर रहे हैं.

एनआईए व यूएपीए कानूनों में कठोर संशोधन लाने और आरटीआई कानून को शिथिल करने का प्रतिवाद करो

भाकपा(माले) महासचिव का. दीपंकर भट्टाचार्य ने 26 जुलाई को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि मोदी सरकार द्वारा एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेन्सी), यूएपीए (गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम) एवं आरटीआई (सूचनाधिकार) कानूनों में संशोधन लाया जाना और लोकसभा द्वारा उनको पारित किया जाना भारतीय लोकतंत्र एवं भारत के नागरिकों की नागरिक स्वतंत्रताओं एवं अधिकारों पर घातक चोट है.